Tuesday , November 20 2018

अब पूरा दम लगा देगा लखनऊ का इकाना, 29 अक्‍टूबर को ‘कीवियों’ से भिड़ पाएगी विराट ब्रिगेड?

लखनऊ। उत्‍तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ का इकाना क्रिकेट स्टेडियम न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज के तीसरे और आखिरी वनडे मैच के जरिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू करने का बड़ा दावेदार माना जा रहा है, लेकिन लखनऊ के इस दावे को हकीकत में बदलने से पहले राह अभी थोड़ी कठिन है। हालांकि बीसीसीआई और आईसीसी में इसके लिए प्रक्रिया भी चल रही है।

Also Read : टीम इंडिया ने टी-20 में श्रीलंका को हराया, 9-0 से जीत हासिल कर की ऑस्‍ट्रेलिया की बराबरी

दरअसल 29 अक्टूबर को कीवी टीम को भारत से तीसरे वनडे में भिड़ने का मौका लखनऊ में मिलेगा या कानपुर में इसका फैसला अभी नहीं हो सका है। अगर लखनऊ में मैच कराना है तो कमर अभी से कस लेनी होगी। इकाना के सीएमएडी उदय सिन्हा को भरोसा है कि बचे हुए कार्य समय से पूरे हो जाएंगे।

आपको बता दें कि इकाना स्टेडियम में मैदान का काम पूरा हो चुका है। पिछले साल रणजी ट्रॉफी के मुकाबले से उसका टेस्ट भी हो चुका है। इसके बाद अब दलीप ट्रॉफी से फ्लड लाइट की टेस्टिंग भी पूरी हो गई है। स्टैंड का काम पहले ही पूरा हो चुका है।

Also Read : कोहली का ‘विराट’ रिकॉर्ड, श्रीलंका को क्‍लीन स्‍वीप कर 85 साल बाद रचा इतिहास

वहीं बचे हुए कामों में अभी प्लेयर्स लॉबी से लेकर मीडिया गैलरी को फाइन ट्यून किया जा रहा है। वहीं सबसे बड़ी चुनौती है एंट्री और एक्जिट पॉइंट का कार्य पूरा नहीं होना। आइसीसी के मानकों में यह महत्वपूर्ण हिस्सा है। सूत्रों का कहना है कि लखनऊ का दावा खारिज किया जाएगा तो यह सबसे बड़ा कारण होगा। स्टेडियम को अवध का लुक देने के लिए बन रही स्टेडियम वॉल का पूरा नहीं होना। निर्माण सामग्री बिखरी हुई है।

बीसीसीआई का एक खेमा दावा कर रहा है कि निर्माणाधीन स्टेडियम में अंतरराष्ट्रीय मैच नहीं कराया जा सकता, लेकिन वे भूल जाते हैं कि 17 अप्रैल 2005 में पाकिस्तान के खिलाफ हाई प्रोफाइल मुकाबला दिल्ली के फिरोजशाह कोटला स्टेडियम में खेला गया था, जिसमें भारत बुरी तरह हार गया था। तब कोटला का पुननिर्माण चल रहा था।

Also Read : श्रीलंका को 304 रनों से हराकर 85 साल बाद ‘विराट’ टीम इंडिया ने बनाया नया रिकॉर्ड

उस समय भी आईसीसी और बीसीसीआई मैच के हक में नहीं थे, लेकिन केंद्र सरकार के कहने पर मैच हुआ था। अंबेडकर स्टेडियम की तरफ का स्टैंड तो बना भी नहीं था। अभी तो बांस-बल्ली लगाई गई थीं, जिसे बाद में कवर लगाकर बंद किया गया था।

वहीं इकाना के सीएमएडी उदय सिन्हा कहते हैं कि हमें मेजबानी मिलती है तो हम तय समय से पहले ही सभी मुद्दों को सुलझा लेंगे। निर्माण कार्य आखिरी दौर में है। वैसे भी निर्माण कार्य का मैच से उस तरीके से संबंध नहीं है। निर्माण कार्य बुनियादी कम और कॉस्मेटिक ज्यादा है। हमें जो सुधार और जो काम करने को कहा जाएगा उसे हम पूरा कर देंगे।

loading...