Thursday , June 20 2019

अभी-अभी : जिसकी उम्‍मीद नहीं थी वो गलती कर बैठे पीएम मोदी, अब गुजरात में भुगतना पड़ेगा खामियाजा

अहमदाबाद। गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए चुनाव प्रचार थम गया है। नौ दिसंबर को गुजरात की 89 विधानसभा सीट के लिए मतदान होने जा रहे हैं। आज शुक्रवार शाम अहमदाबाद के निकोल में पीएम मोदी ने एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए विवाद पैदा कर दिया है।

Also Read : लग गई मुहर, गुजरात में शनिवार को वो होगा जो इससे पहले कभी नहीं हुआ

उन्होंने जनता से 9 और 14 दिसंबर को बीजेपी के पक्ष में मतदान करने की अपील की, जिसके बाद से विवाद पैदा हो गया। दरअसल, गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए प्रचार खत्म हो चुका है। अब 9 दिसंबर को पहले चरण के लिए 89 सीटों के लिए मतदान होना है। इसके बावजूद पीएम मोदी ने जनता से बीजेपी के लिए वोट मांगा। इसे चुनावी आचार संहिता का उल्लंघन माना जा सकता है।

Also Read : कांग्रेस ने चला तगड़ा दांव, गुजरात में मोदी की पत्‍नी जशोदाबेन को दिया सबसे बड़ा ऑफर

आचार संहिता के मुताबिक, मतदान से 48 घंटे पहले चुनाव प्रचार पूरी तरह से प्रतिबंधित हो जाता है। इसके बाद किसी भी दल और नेता को चुनाव प्रचार की इजाजत नहीं होती है। गुजरात में पहले चरण के लिए चुनाव प्रचार गुरुवार शाम पांच बजे खत्म हो चुके हैं। हालांकि दूसरे चरण के लिए चुनाव प्रचार जारी हैं।

मोदी ने दूसरे चरण के लिए चुनाव प्रचार के दौरान जनता को संबोधित करते हुए कहा कि आप लोग 9 और 14 दिसंबर को कमल के बटन को दबाकर बीजेपी को जिताइए। इस दौरान पीएम मोदी ने मणिशंकर अय्यर के नीच वाले बयान को लेकर कांग्रेस पर भी जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि मनमोहन सरकार में मंत्री रहे कांग्रेस के दिग्गज मंत्री ने मुझे नीच कहा है।

Also Read : लाइव शो में संबित पात्रा के साथ हुआ कुछ ऐसा जिसकी किसी को उम्‍मीद तक नहीं होगी

उन्होंने जनता से कहा कि आप ही बताइए कि क्या मैं गुजरात में पैदा हुआ, इसलिए नीच हूं? क्या मैं गरीब परिवार में जन्मा, इसलिए नीच हूं? उन्होंने कहा कि यह पहली बार नहीं है। इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी मुझे मौत का सौदागर कहा था।

loading...