Sunday , September 23 2018

अभी-अभी : भारत का मुरीद हुआ चीन, बोला- मोदी राज में इंडिया बन रहा दबंग

बीजिंग। चीन के प्रमुख सरकारी थिंक टैंक ने माना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार के तहत भारत की विदेश नीति आक्रामक और मुखर हो गई है। इसमें जोखिम लेने की क्षमता बढ़ी है। चाइना इंस्टीट्यूट ऑफ इंटरनेशनल स्टडीज (सीआइआइएस) के वाइस प्रेसिडेंट रोंग यिंग ने कहा है कि पिछले तीन वर्षों में भारत की कूटनीति ने विशिष्ट एवं अद्वितीय मोदी डॉक्टि्रन (मोदी सिद्धांत) का निर्माण किया है। यह नए हालात में बड़ी ताकत के रूप में भारत के उभरने की रणनीति है। सीआइआइएस चीन के विदेश मंत्रालय से जुड़ा है।

Also Read : इस शख्स ने कूड़े में फेंक दिए 12 लाख रुपए, देखकर नहीं होगा यकीन

थिंक टैंक की पत्रिका में प्रकाशित लेख में रोंग ने भारत के चीन, दक्षिण और दक्षिण पूर्व एशिया के साथ संबंध और अमेरिका एवं जापान के साथ करीबी संबंध पर नजर डाली है। रोंग राजनयिक के तौर पर भारत में काम कर चुके हैं। उन्होंने कहा है कि मोदी के नेतृत्व में भारत की विदेश नीति तेजी से मुखर हो रही है और आपसी फायदे पेश कर रही है। पत्रिका में ये भी लिखा है कि पीएम मोदी जब एक बार मन बना लें तो फैसलों को अमल में लाने के लिए किसी भी बात के लिए राजी हो सकते हैं।

Also Read : बड़ा खुलासा, किसी भी समय अमेरिका पर परमाणु हमला कर सकता है नार्थ कोरिया

भारत-चीन संबंधों पर रोंग ने कहा कि जब से मोदी ने सत्ता संभाली है, तब से दोनों देशों ने संबंधों में स्थिर गति बनाए रखी है। ये सब मोदी के पीएम बनने के बाद ही संभव हो पाया है। साथ ही मोदी सारकार के तारीफों के फूल भी बांधे गए। किताब में प्रकाशित था कि मोदी सरकार का कोई तोड़ नहीं, आने वाले भविष्य में बीजेपी उभरती हुई पार्टी है। उन्होंने कहा, डोकलाम घटना ने न केवल भारत-चीन सीमा मुद्दे को उभारा बल्कि कुल मिलाकर दोनों देशों के संबंधों को खतरे में डालने वाला भी बना।

Also Read : अमेरिका ने 11 ‘हाई रिस्क’ देशों पर से हटाया बैन, मगर रखी हैं ये शर्तें

रोंग ने कहा कि भारत और चीन को एक दूसरे के विकास के लिए आपसी सहयोग की रणनीतिक सहमति बनानी चाहिए। उन्होंने कहा कि चीन भारत के विकास में बाधा नहीं है बल्कि भारत के लिए एक बड़ा अवसर है। वह भारत के उदय को न रोकेगा और न ही रोक सकता है। चीन के लिए भारत एक अहम देश है।

loading...