Monday , December 18 2017
Breaking News

अभी-अभी : सबसे सीनियर नेता ने ही बीजेपी पर उठाए सवाल, अब क्‍या करेंगे पीएम मोदी

यशवंत सिन्‍हानई दिल्‍ली। भारतीय जनता पार्टी के एक सबसे सीनियर नेता ने खुद की ही पार्टी पर बड़े सवाल खड़े कर दिए हैं। हालांकि इससे पहले भी वह बीजेपी पर हमलावर रहे हैं। हां, हम यहां बात कर रहे हैं बीजेपी के सीनियर लीडर यशवंत सिन्‍हा की।

यशवंत सिन्‍हा का दूसरा हमला

यशवंत सिन्‍हा ने आज एक बार फिर बीजेपी को आड़े हाथों लेते हुए पार्टी पर तीखे हमले किए। देश की इकोनॉमी को लेकर नरेन्द्र मोदी सरकार पर आरोपों के तीर छोड़ने के बाद बीजेपी के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा ने पार्टी के साथ-साथ सरकार पर दूसरा हमला किया है।

Also Read : लग गई मुहर, पीएम मोदी ने तोड़ दी यह 66 साल पुरानी परंपरा

यशवंत सिन्हा ने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के बेटे जय शाह को लेकर कहा है कि इस मामले बीजेपी इस तरह से प्रतिक्रिया दे रही है जिसे देखने के बाद लगता है कि कुछ ना कुछ तो गड़बड़ है। यशवंत सिन्हा ने कहा कि करप्शन पर उनकी पार्टी नैतिक आधार खो चुकी है।

देश की इकोनॉमी को रसातल में ले जाने का आरोप लगाकर अपनी पार्टी की सरकार को कठघरे में खड़ा करने वाले 79 साल के यशवंत सिन्हा ने कहा कि बीजेपी ने जय शाह के केस में कई गलतियां की है। यशवंत सिन्हा ने एक टीवी चैनल से कहा कि जिस तरह से ऊर्जा मंत्रालय द्वारा जय शाह को लोन दिया गया इसके बाद पूर्व ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल ने उनका बचाव किया इससे ये अर्थ निकलता है कि कोई ना कोई गड़बड़ है।

Also Read : लग गई मुहर, बीजेपी में शामिल होने जा रहा है ये सबसे बड़ा नेता

यशवंत सिन्हा ने इस मामले में सरकारी वकील तुषार मेहता द्वारा जय शाह की पैरवी किये जाने पर भी सवाल उठाया। यशवंत सिन्हा ने पटना में कहा कि एडिशनल सॉलिसिटर जनरल द्वारा एक निजी व्यक्ति का मुकदमा लड़ना ऐसा कभी नहीं हुआ है। इससे पहले तुषार मेहता ने कहा था कि उन्होंने जय शाह का केस लड़ने के लिए कानून मंत्रालय से इजाजत ली थी।

Also Read : ‘अमित शाह के बेटे के खिलाफ छापी गई गलत खबर, ठोकेंगे 100 करोड़ का मुकदमा’

आपको बता दें कि वेबसाइट ‘द वायर’ ने एक स्टोरी प्रकाशित की है जिसमें लिखा गया है कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के बेटे जय शाह की कंपनी के कारोबार में नरेन्द्र मोदी के पीएम बनने के बाद 16 हजार गुना का इजाफा हुआ है। वेबसाइट की इस स्टोरी के खिलाफ जय शाह ने मानहानि का मुकदमा दर्ज कराया है। इस रिपोर्ट में एक सरकारी संस्थान द्वारा जय शाह को अनसिक्योर्ड लोन देने पर भी सवाल उठाया गया है, ये सरकारी संस्थान ऊर्जा मंत्रालय के तहत आती है।

Also Read : राहुल गांधी ने किया ऐलान, इस राज्‍य में ये चेहरा होगा सीएम कैंडिडेट

यशवंत सिन्हा ने आगे कहा कि सरकार को इस मामले में जांच का आदेश देना चाहिए क्योंकि इसमें कई सरकारी विभाग शामिल दिख रहे हैं। यशवंत सिन्हा ने कहा कि बीजेपी भ्रष्टाचार पर अपना नैतिक बल खो चुकी है।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *