Thursday , June 27 2019

अभी-अभी : सीएम योगी ने लगा दी मुहर, यूपी में मायावती के लिए किया सबसे बड़ा काम

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) सुप्रीमो मायावती के उस प्रस्ताव को हरी झंडी दे दी है, जिसमें माया ने अपने ड्रीम प्रोजेक्ट यानी अपने शासनकाल में बनाए गए पार्कों और मूर्तियों के संरक्षण का अनुरोध किया था। ‘द टेलीग्राफ’ के मुताबिक, गुजरात चुनाव के नतीजों के ऐलान के ठीक तीन दिन बाद 22 दिसंबर को सीएम योगी आदित्यनाथ ने मायावती के प्रस्ताव को मान लिया है।

Also Read : चुनाव से ठीक पहले राहुल गांधी को बड़ा झटका, पांच दिग्‍गज नेताओं ने छोड़ी पार्टी

सूत्रों के मुताबिक, मुख्यमंत्री ने अगले साल 21 और 22 फरवरी को लखनऊ में होने वाले इन्वेस्टर मीट का उल्लेख करते हुए शहर के सभी पार्कों और मूर्तियों को चमकाने का आदेश अधिकारियों को दिया है, ताकि दुनियाभर से आने वाले निवेशकों के दिल-दिमाग में लखनऊ को लेकर एक अच्छी छवि बन सके।

Also Read : मोदी के वाराणसी में हुआ था ये सबसे बड़ा चुनाव, नतीजे देखकर रह जाएंगे दंग

आपको बता दें कि मायावती साल 2012 से 2017 तक तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को बार-बार इस बाबत पत्र लिखती रही थीं लेकिन अखिलेश यादव ने इस पर कोई ध्यान नहीं दिया। माया ने अपने पत्रों में सीएम को धमकी भी दी थी कि इन पार्कों और मूर्तियों की अनदेखी करने पर बहुजन समाज उन्हें सबक सिखाएगा।

वहीं अब जब योगी आदित्यनाथ ने मायावती के आग्रह को स्वीकार कर लिया है, तब राजनीतिक हलके में इसके सियासी मायने निकाले जा रहे हैं। गुजरात चुनावों के नतीजों से एक बात उभर कर सामने आई थी कि बसपा और एनसीपी ने करीब 10 सीटों पर कांग्रेस को नुकसान पहुंचा कर बीजेपी को जीत दिलाई थी।

Also Read : सीएम योगी ने लिया एक्‍शन, नोएडा आए पीएम मोदी के साथ हुई थी ये बड़ी घटना

अब लोगों का मानना है कि गुजरात चुनाव में बीजेपी को फायदा पहुंचाने का इनाम मायावती को उनके शासन काल में बनाए गए पार्कों और मूर्तियों को चमकाकर दिया जाएगा। बता दें कि इन मूर्तियों में खुद मायावती की भी मूर्ति है। इनके अलावा कांशी राम, बाबा साहब भीमराव अंबेडकर समेत कई दलित चिंतकों और समाज सुधारकों की भी मूर्तियां लगाई गई हैं। वहां बड़ी संख्या में पत्थर के हाथी भी लगाए गए थे। यह मायावती का ड्रीम प्रोजेक्ट था।

loading...