Wednesday , August 22 2018

अभी-अभी : हिमालय पर दिखा ‘ॐ’, वैज्ञानिकों का दावा- आ रहा है सबसे बड़ा खतरा

देहरादून। उत्तर भारत के मौसम में इन सर्दियों में एक बड़ा बदलाव देखने को मिल रहा है। कड़ाके की ठंड का मौसम अब तकरीबन गुजरने की ओर है लेकिन नॉर्थ के दो बड़े हिल स्टेशन हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में बर्फ का सूखा लगातार जारी है। हालत यह है कि उत्तराखंड में कैलाश मानसरोवर रूट पर पड़ने वाले ॐ पर्वत पर अभी से ‘ॐ’ की आकृति दिखी है।

Also Read : लग गई मुहर, इस राज्‍य में सीएम कैंडिडेट पर बीजेपी ने लिया सबसे बड़ा फैसला

आपको बता दें कि आमतौर पर मई-जून में यह दृश्य दिखाई देता है। मौसम वैज्ञानिक इसे ग्लोबल वॉर्मिंग की वजह बता रहे हैं। देश में सर्दी का मौसम तकरीबन अपने आखिरी दौर पर है, लेकिन इस बार हिमाचल प्रदेश हो या फिर उत्तराखंड, दोनों ही स्थानों पर एक भी बार भीषण बर्फबारी नहीं हुई है। इन क्षेत्रों में जनवरी महीने के आखिर तक पूरी तरह से सूखा पड़ा हुआ है, जिसकी वजह से हिमाचल में सेब की फसल के लिहाज से चिंता जताई जा रही है।

Also Read : इधर आप सो रहे हैं ऊधर पाकिस्‍तान ने फिर बवाल कर दिया, हाईअलर्ट जारी

माना जा रहा है कि यदि ऐसा ही बना रहा तो गर्मियों में पानी की समस्या भी पैदा हो सकती है। उत्तराखंड में जनवरी माह के आखिर तक 100 फीसदी बारिश की कमी देखी गई, जबकि हिमाचल प्रदेश में यह 99 फीसदी से अधिक है। उत्तरी मैदानी इलाकों में भी जनवरी महीने तक बारिश नहीं हुई, जो कि कम सर्दी की प्रमुख वजह मानी जा रही है।

Also Read : ‘आप’ का सबसे बुरा दिन, केजरीवाल को एक ही दिन में लगा दूसरा तगड़ा झटका

मौसम विभाग के मुताबिक, अगले 5-6 दिनों तक ऐसे बदलाव की संभावना भी नहीं है। यही नहीं इस बार सर्दी के मौसम ने उत्तर भारत को सिर्फ एकबार प्रभावित किया है। ऐसा लगभग 11-12 दिसंबर को हुआ था जब मैदानी क्षेत्रों में बारिश हुई और हिमालय के ऊपरी हिस्सों में बर्फबारी हुई। ठंड लहरें और नमी युक्त हवाएं दक्षिणी यूरोप और पश्चिमी एशिया से आती हैं, जो उत्तर भारत में बारिश के मौसम का प्रमुख श्रोत हैं। शिमला में मौसम विभाग के प्रमुख मनमोहन सिंह ने कहा, ‘शिमला में इस बार जनवरी महीने में बर्फबारी नहीं दर्ज की गई है।

loading...