Sunday , December 8 2019

एक्‍शन में आई मोदी सरकार, पाकिस्तान के साथ अब चीन से भी टक्‍कर लेने की तैयारी

aero-india-2015_89ff09cc-6cc0-11e5-9358-ce0f694bc37cनई दिल्ली। केंद्र की मोदी सरकार अब पूरे एक्‍शन में दिख रही है। पाकिस्‍तान के साथ-साथ अब सरकार चीन से भी बराबर की टक्‍कर लेने की तैयारी में दिख रही है। इसको लेकर भारत ने एक बड़ा फैसला लिया है। भारत 200 लड़ाकू विमानों की बड़ी खरीद की तैयारी में है। ये विमान इस शर्त पर खरीदे जा रहे हैं कि विमान मेड इन इंडिया होंगे।

ये भी पढ़ें :- गुस्‍से में पीएम मोदी से की भावुक अपील, अगर सुधर नहीं रहा तो मिटा दो पाकिस्‍तान को

एयरफोर्स के सूत्रों के मुताबिक, सुरक्षाबलों के आधुनिकीकरण और लड़ाकू क्षमता में तेजी से विस्तार के लिए प्रस्ताव तैयार किए जा रहे हैं। इसमें मेड इन इंडिया की शर्त सबसे ऊपर रखी जाएगी। भारत के सामने न केवल पाकिस्तान बल्कि चीन की भी चुनौती है, ऐसे में मोदी सरकार डिफेंस सेक्टर में खरीद और उत्पादन को लेकर तेजी से फैसले करना चाहती है।

ये भी पढ़ें :- भारतीय सेना का ऐलान, अगले तीन दिन पाकिस्‍तान के लिए बेहद भारी

भारत में अब तक ज्यादातर लड़ाकू विमान सोवियत संघ रूस से लिए गए हैं। हालांकि, हाल के दिनों में मिग विमान लगातार दुर्घटना के शिकार होते रहे हैं। अब एयरफोर्स के बेड़े को पूरी तरह बदलने की तैयारी है। 36 राफेल विमानों के लिए हुई डील इस दिशा में एक बड़ा कदम है।

अब सरकार इससे भी आगे जाकर सिंगल इंजन वाले 200 लड़ाकू विमानों की खरीद की तैयारी कर रही है। बस विदेशी कंपनियों के सामने शर्त ये होगी कि विमान भारत में बने। मोदी सरकार का जोर मेक इन इंडिया पर है। चीन और पाकिस्तान से मुकाबले के लिए एयरफोर्स को पूरी ताकत देने के लिए सरकार बड़ा फैसला लेने जा रही है।

ये भी पढ़ें :- सिर के बदले पाकिस्‍तानी सैनिक का सिर लेकर आओ

मोदी सरकार चाहती है कि केवल विमान खरीद नहीं जाएं बल्कि विदेशी कंपनी एक इंडियन पार्टनर के साथ मिलकर देश में ही इसका निर्माण करे। इसका मकसद एकतरफ देश की रक्षा जरूरतों को पूरा करना है वहीं देश में लड़ाकू विमान निर्माण के उद्योग को व्यापक पैमाने पर स्थापित करना भी है।

loading...