Tuesday , November 20 2018

खूब चमकेगी किस्‍मत, 18 मार्च से शुरू हो चुके हैं इन राशियों के सबसे अच्‍छे दिन

विक्रम संवत 2075 का आरंभ 18 मार्च 2018, रविवार को हो चुका है। विक्रम संवत 2075 का राजा सूर्य है और विक्रम संवत 2075 का मंत्री शनि है इसलिए साल 2018 में सूर्य और शनि का विशेष प्रभाव रहेगा। सूर्य सभी नवग्रहों में विशेष स्थान रखता है। सूर्य को ग्रहों का राजा माना जाता है विक्रम संवत 2075 में सूर्य के राजा बनने से उन लोगों को विशेष रूप से लाभ होगा जिनकी कुंडली में सूर्य ग्रह की स्थिति मजबूत है।

Also Read : इस मंत्र के जप से तुरंत मिलेगी सिद्धि, लेकिन जरूर याद रखें ये तीन चीजें

मेष- शनि और मंगल की इस बार मेष राशि वालों पर विशेष कृपा रहने वाली है। पराक्रम प्रभाव प्रसिद्धि सफलता और स्थायित्व बढ़ाने वाला वर्ष है। योग्य जनों के लिए पूर्वार्ध में विवाह की अच्छी संभावनाएं हैं। करियर कारोबार में उन्नति के अवसर वर्ष भर बने रहेंगे। बड़े प्रयासों को गति देंगे। स्वास्थ्य समस्याएं स्वतः कम होंगी। भारी उद्योग उद्यम उत्पादन से जुड़ने के अवसर बनें। धर्मानुराग बढ़ेगा। पद प्रतिष्ठा बढे़गी।

वृष- शनि की ढैया से स्वास्थ्य और संबंध प्रभावित रह सकते हैं। कार्य-व्यापार में उम्मीद के अनुरूप प्रदर्शन करेंगे। पूर्वार्ध की अपेक्षा उत्तरार्ध अधिक उत्साहवर्धक और प्रभावी रहेगा। नव संवत कर्मठता और आत्मविश्वास पर जोर देने वाला है। भाग्य की अपेक्षा निज प्रयासों से अधिक सफलता पाएंगे। बड़े उद्यमों में धैर्य रखें। कारोबारी समझौते लाभप्रद रहेंगे। यात्रा के योग बनेंगे।

मिथुन- बड़े प्रयासों को बल देने वाला समय है। भूमि भवन क्रय विक्रय संभव है। विवाहादि मांगलिक कार्य के योग बनेंगे। लाभ बेहतर रहेगा। धनागम के नव स्त्रोतों का सृजन संभव है। व्यक्तिगत संबंध प्रगाढ़ होंगे। स्वास्थ्य उत्साह संपर्क बेहतर बनेगा। व्यापारिक यात्राएं संभव।  उच्च के मंगल से मई से अक्टूबर तक आकस्मिक हानि-लाभ की स्थिति रहेगी।

कर्क – पेशेवर बेहतर प्रदर्शन करेंगे। सेवाक्षेत्र से जुड़े जन अधिक प्रभावी रहेंगे। सभी का सहयोग मिलेगा। मार्च से जून उम्मीद से अच्छा रहेगा। तत्पश्चात् अक्टूबर तक सहजता से आगे बढ़ें। दशहरा से उत्तरोत्तर प्रगति के संकेत हैं। अहंकार और क्रोध कठिनाई बढ़ा सकता है। अधिकार एवं न्यायिक मामलों में धैर्य रखें। बड़ों और अपनों से बनाकर चलें।

Also Read : इन राशियों पर आएगी मुसीबत, 7 मार्च की शाम होगा इस ग्रह का राशि परिवर्तन

सिंह- आत्मनियंत्रण को मूल मंत्र बनाएं। कर्मठता और पेशेवरता से सफलता पाएंगे। विपक्ष दबाव में रहेगा। विवाहादि के योग बनेंगे। धार्मिकता, विश्वास एवं सहयोग भाव बढ़ा हुआ रहेगा। वाणिज्यिक गतिविधियों में रुचि बढ़ेगी। शिक्षा संतान और प्रेम पक्ष संवार पर रहेंगे। प्रतियोगिता में अच्छा करेंगे। अनुशासन के क्षेत्र से जुड़े जातक अधिक अच्छा करेंगे।

कन्या- शनि के चैथे ढैया के बावजूद यह वर्ष सकारात्मक है। सफलता देने वाला है। वर्षारंभ से बनी कार्य व्यापार की गति वर्षांत तक बनाए रख सकने की संभावनाए हैं। अपनों का साथ और विश्वास मनोबल ऊंचा रखेगा। सभी से बनाकर चलें। मेहमान बढ़ेगे। शुभ प्रस्ताव मिलेंगे। परीक्षा प्रतिस्पर्धा के लिए समय अच्छा है। मनोबल को हर हाल में बनाए रखें।

तुला- हर्ष उत्साह श्रेष्ठता बढ़ाने वाला वर्ष है। जिम्मेदार बने रहेंगे। अपेक्षित प्रदर्शन रहेगा। सोचा समझा जोखिम उठाएंगे। शिक्षा साहचर्य, समझौतों संगठन और स्थायित्व के लिए अच्छा वर्ष है। प्रतिस्पर्धा में अच्छा करेंगे। पराक्रम और भाग्य का संतुलन प्रयासों को गति देगा। मई जून और सितंबर में सतर्क रहें। अपनों से बनाकर रहें। स्थान परिवर्तन के संकेत हैं।

वृश्चिक- बड़प्पन रखें। स्वार्थ, संकीर्णता और क्षणिक लाभ के फेर से बचें। दान धर्म और दिखावे में रुचि रहेगी। रिश्तों को बल मिलेगा। शुभ प्रस्तावों का सम्मान करें। सहजता समता और सामंजस्य से अपेक्षित सफलता पाएंगे। विपक्ष सक्रिय रहेगा। साहस पराक्रम बढ़ा हुआ रहेगा। मई से वर्ष के मध्याह्न तक मकर का मंगल शौर्य पराक्रम के प्रदर्शन में आगे रखेगा।

धनु- सामाजिक आर्थिक और राजनीतिक उन्नति का वर्ष है। नेतृत्व और संगठन क्षमता बढ़ेगी।  शिक्षा संतान और प्रेम पक्ष बेहतर रहेंगे। प्रतिस्पर्धा में अच्छा करेंगे। पूर्वार्ध में योजनाओं को मूर्तरूप देने का प्रयास करें। जनहित और निजहित का संतुलन रखें। वाणी व्यवहार की कटुता से बचें। रक्त संबंधों को बल मिलेगा। विद्यार्थी श्रेष्ठ दे पाएंगे।

Also Read : आज बन रहा है सबसे बड़ा नक्षत्र, इन दो उपायों से बन जाएंगे मालामाल

मकर- नियम और नैतिकता बनाए रखें। संवत् उन्नतिकारक है। प्रबंधन-प्रशासन का सहयोग रहेगा। संचय और संस्कारों पर जोर रहेगा। कुल कुटुम्ब में उल्लेखनीय उपलब्धि जुड़ सकती है। वाणी व्यवहार प्रभावी रहेगा। पेशेवर अच्छा करेंगे। कर्मठता से सफलता। उधार से बचें। इस वर्ष आप इच्छित घर या वाहन की अभिलाषा को पूर्ण कर सकते हैं।

कुंभ- सभी क्षेत्रों में उम्मीद से अच्छा करेंग। मान सम्मान बढ़ेगा। कला-कौशल और कर्मठता से सभी प्रभावित होंगे। भाग्य विश्वास और संपर्क के बल पर इच्छित सफलता मिलेगी। मई और जून माह थोड़े कमजोर रह सकते हैं। अकेले ही आगे बढ़ने की नीति अपनाएं। सबका समर्थन और सहयोग मिलेगा। भूमि भवन के मामलों में जल्दबाजी से बचें। वैश्विक सम्पर्क होगा। विदेश यात्रा संभव।

मीन- प्रारंभिक महीनों की बढ़त प्रभावी रहेगी। भाग्येश मंगल का उच्च राशि में संचरण बड़ी उपलब्धियों को देने वाला होगा। परिजनों का साथ समर्थन उत्साहित रखेगा। बचत पर जोर देंगे। युवा उम्मीद से अच्छा करेंगे। कार्यक्षेत्र में सभी का सहयोग मिलेगा। भव्य भवन एवं वाहन की अभिलाषा पूर्ण हो सकती है। पूर्वार्ध की अपेक्षा उत्तरार्ध अधिक अच्छा रहेगा।

loading...