Wednesday , August 22 2018

जैसे ही खत्‍म हुआ कर्नाटक का नाटक, तो मोदी को राहुल गांधी ने दी ये बड़ी शिक्षा

बेंगलुरु। कर्नाटक विधानसभा में फ्लोर टेस्ट के दौरान येदियुरप्पा द्वारा मुख्यमंत्री दिए गए इस्तीफे के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने हमलावर रुख अख्तियार कर लिया है। येदियुरप्पा के इस्तीफे के बाद एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए राहुल गांधी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लोकतंत्र का पाठ पढाते नजर आए। अपने बयान में उन्होंने कहा कि पीएम मोदी का रवैया लोकतांत्रिक नहीं, बल्कि तानाशाही वाला है। उन्होंने कहा कि वे देश और देश के लोगों और संवैधानिक संस्थाओं से ऊपर नहीं हैं।

राहुल गांधी ने कहा कि कर्नाटक विधानसभा में क्या हुआ आपने देखा? येदियुरप्पा ने इस्तीफा देने के बाद BJP के सभी नेता राष्ट्रगान से पहले ही सदन से उठकर चले गए। वे हर चीज का अपमान करते हैं।बीजेपी का नेचर ऐसा ही है। वे हर चीज का अपमान करते हैं। वे विधानसभा का, सुप्रीम कोर्ट का हर इंस्टीट्यूट का अपमान करते हैं। उन्होंने गोवा के जनमत का, मणिपुर के जनमत का अपमान किया। उन्होंने कर्नाटक के जनमत का भी अपमान किया।

राहुल गांधी ने कहा कि भारत में ताकत कुछ नहीं है। लोगों की इच्छाशक्ति ही सबकुछ है। हमने जनता को बताया और बीजेपी के अहंकार की सीमा भी गिनाई। इस देश को कैसे चलाया जाना है इसकी एक सीमा है। राहुल ने कहा कि प्रधानमंत्री का मॉडल लोकतांत्रिक नहीं, तानाशाही वाला है।

नरेंद्र मोदी को दिए अपने सन्देश में राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री भारत से बड़ा नहीं है। पीएम जनता, सुप्रीम कोर्ट, संसद, विधानसभा से बड़ा नहीं हो सकता। उन्हें ये सोचना बंद करना होगा। उन्हें समझना होगा कि हर संस्थान का सम्मान करना होगा, जिस तरीके से उनकी ट्रेनिंग हुई है मुझे शक है कि संघ किसी को अपने सामने सम्मान देता है।

loading...