Sunday , July 21 2019

बस ऐसे करिए अपनी प्‍लानिंग, आपका बच्‍चा बन जाएगा 50 लाख का मालिक

आपका बच्चा 21 साल की उम्र तक आसानी से 50 लाख रुपए का मालिक बन सकता है, बशर्ते इसके लिए आप सही तरीके से फाइनेंशियल प्लानिंग करें। एक्सपर्ट्स बताते हैं कि अगर सही उम्र में उचित प्‍लानिंग की जाए तो 18-20 साल में कोई भी 50 लाख रुपए का फंड बना सकता है। अब सवाल उठता है कि यह कैसे और किस तरह से संभव होगा। आइए जानते हैं कि कैसे छोटी रकम इन्वेस्ट कर बड़ा फंड हासिल किया जाता है। इससे न सिर्फ आपके बच्‍चे का भविष्‍य सुरक्षित होगा, बल्कि आपकी चिंता भी कम हो जाएगी।

5000 रुपए का निवेश : वीएम फाइनेंशियल के हेड विवेक मित्तल के अनुसार, बड़ी रकम हासिल करने का सबसे अच्छा और बेस्ट तरीका म्यूचुअल फंड में सिस्‍टमैटिक इन्‍वेस्‍टमेंट प्‍लान (एसआईपी) है। अगर आपका बेटा 1 या 2 साल का है तो आप उसके नाम पर 5,000 रुपए की एसआईपी शुरू कर सकते हैं।

20 साल की उम्र में मिलेंगे 50 लाख रुपए : सबसे पहले आपको अच्छे एक्सपर्ट की मदद से म्यूचुअल फंड चुनना होगा। इसके बाद आप उसमें एसआईपी के जरिए निवेश शुरू कर सकते हैं। आपको 18 साल तक हर साल एसआईपी में 10 फीसदी इजाफा करना होगा। इस निवेश पर अगर 10 फीसदी सालाना औसत रिटर्न मिलता है तो 18 साल के बाद आपके बेटे के नाम पर कुल 50 लाख रुपए हो जाएंगे।

ऐसे समझें-

हर महीने 5000 रुपए का निवेश करना होगा।
निवेश में हर साल 10 फीसदी का इजाफा करना होगा।
एक्सपर्ट्स बताते हैं कि एसआईपी से 12 फीसदी तक का सालाना रिटर्न आसानी से मिल जाता है।
ऐसे में 18 साल के बाद आपकी कुल रकम बढ़कर 57 लाख रुपए हो जाएगी।

इन बातों का रखें ख्याल : 18 साल से कम उम्र के व्‍यक्ति का एसआईपी अकाउंट उसके माता पिता की गार्जियनशिप में ही खुल सकता है। ऐसे में अगर आप बेटे की उम्र 18 साल होने से पहले उसके नाम पर चल रही एसआईपी से पैसा निकालते हैं तो यह आपकी इनकम में शामिल माना जाएगा और आपको इस पर टैक्‍स देना होगा। जब आपकी बेटी या बेटा 18 साल का हो जाए तो आपको एसआईपी अकाउंट को अपडेट करना चाहिए। इसके बाद एसआईपी अकाउंट पूरी तरह से आपके बेटे या बेटी के नाम पर हो जाएगा।

loading...