Sunday , September 23 2018

मंगल का राशि परिवर्तन, 17 जनवरी से 7 मार्च की तारीख इन तीन राशियों पर पड़ेगी भारी

17 जनवरी को मंगल राशि परिवर्तन कर वृश्चिक राशि में प्रवेश करेगा। सुबह 05:12 पर मंगल तुला राशि से वृश्चिक राशि में प्रवेश करेगा और 7 मार्च की शाम 06:28 तक यहीं पर रहेगा।

Also Read : 16 जनवरी के दिन ऐसे खत्‍म हो जाएगा काल सर्प दोष, चमक उठेगी किस्‍मत

मंगल मेष और वृश्चिक राशि का स्वामी है। मंगल की शुभ स्थिति में व्यक्ति शक्तिशाली और साहसी बनता है, वहीं जन्मपत्रिका में मंगल अच्छी स्थिति में न होने पर समाज के विरुद्ध कामों के लिये प्रेरित करता है। वैसे तो मंगल सही मार्ग पर चलने वाला और सच्चाई का साथ देने वाला ग्रह है, लेकिन गलत के साथ यह गलत है।

शरीर में नाभि के आस-पास का क्षेत्र मंगल का माना जाता है। तो मंगल के वृश्चिक राशि में इस गोचर से किस राशि वालों पर क्या प्रभाव होगा और उसके लिये क्या उपाय करने चाहिए।

मेष राशि : मंगल आपके आठवें स्थान पर गोचर करेंगे । मंगल के इस गोचर से आप न्याय का साथ देंगे। अपनी मेहनत के बल पर काम करेंगे और अपनी कही बात पर अडिग रहेंगे। 7 मार्च तक आपको शत्रुओं का भय नहीं होगा, लेकिन अगर घर में छोटा भाई है तो 7 मार्च तक उसकी सेहत का ख्याल रखने की आवश्यकता है। यहां ये भी बता दूं कि किसी की जन्मपत्रिका के पहले, चौथे, सातवें, आठवें या बारहवें स्थान पर मंगल हों तो जातक मांगलिक कहलाता है।

Also Read : हो जाएंगे बर्बाद, अगर घर में स्‍वास्तिक बनाने में की ये सबसे बड़ी गलती

अतः मेष राशि वालों को आठवें स्थान पर मंगल का यह गोचर 7 मार्च तक मांगलिक बना देगा। अगर आप विवाहित हैं तो इस बात पर ध्यान देना चाहिए कि क्या आपके जीवनसाथी की जन्मपत्रिका में मंगल पहले, चौथे, सातवें, आठवें या बारहवें जा रहा है। अगर ऐसा है तो ठीक, अन्यथा सतर्क होकर इस गोचर के उपाय आपको जरूर करने चाहिए।

सिंह राशि : चौथे स्थान पर मंगल का गोचर आपको साहसी बनायेगा। माता से पूरा सहयोग और भूमि-भवन, वाहन का सुख मिलेगा। साथ ही आपके भाईयों और उनकी संतान को भी विशेष लाभ मिलेंगे। लेकिन इस बीच अपनी माता और अगर विवाहित हैं तो अपने जीवनसाथी की मां के स्वास्थ्य का ख्याल रखने की और साथ ही अपने काम समझ-बूझ से करने की जरूरत है।

जन्मपत्रिका के पहले, चौथे, सातवें, आठवें या बारहवें स्थान पर मंगल का गोचर जातक को मांगलिक बनाता है। अतः सिंह राशि वालों चौथे स्थान पर मंगल का यह गोचर 7 मार्च तक के लिये आपको मांगलिक बना देगा। अगर आप विवाहित हैं तो इस बात पर भी ध्यान दें कि क्या आपके जीवनसाथी की जन्मपत्रिका में मंगल पहले, चौथे, सातवें, आठवें या बारहवें जा रहा है। अगर ऐसा है तो ठीक, अन्यथा सतर्क होकर इस गोचर के उपाय आपको जरूर करने चाहिए।

Also Read : अगर मिल जाएं इन तीन राशियों की लड़कियां, तो बिना सोचे समझे झट से कर लें शादी

वृश्चिक राशि : पहले स्थान पर मंगल के इस गोचर से भाई-बहनों का आपको पूरा साथ मिलेगा। साथ ही राजनीति के क्षेत्र में लाभ मिलेग और आपका स्वास्थ्य भी ठीक रहेगा। लोहा, लकड़ी, मशीनरी आदि का काम कर रहे लोगों को भी फायदा मिलेगा, लेकिन ध्यान रहे अधिक लाभ के चक्कर में अपनी ईमानदारी न छोड़ें। यहां ये भी बता दूं कि किसी की जन्मपत्रिका के चौथे, सातवें, आठवें और बारहवें स्थान के अलावा अगर पहले स्थान पर भी मंगल हो तो जातक मांगलिक कहलाता है। अतः वृश्चिक राशि वालों पहले स्थान पर मंगल का यह गोचर 7 मार्च तक आपको मांगलिक बना देगा।

अगर आप विवाहित हैं तो आपको ध्यान देना चाहिए कि क्या आपके जीवनसाथी की जन्मपत्रिका में मंगल पहले, चौथे, सातवें, आठवें या बारहवें जा रहा है। अगर ऐसा है तो ठीक, अन्यथा सावधानी से इस गोचर के उपाय आपको करने चाहिए।

loading...