Wednesday , August 22 2018

ये कैसा जिहाद… अल्‍लाह के घर में ही बिछा दीं लाशें ही लाशें, 235 लोगों की मौत

काहिरा। मिस्र के अशांत उत्तरी सिनाई में शुक्रवार को जुमे की नमाज के दौरान एक मस्जिद पर हुए संदिग्ध आतंकी हमले में 235 लोगों की मौत हो गई और 100 से ज्‍यादा घायल हो गए। समाचार एजेंसी एफे ने एक सुरक्षा सूत्र के हवाले से बताया, उत्तरी शहर अरीश की मस्जिद में आतंकवादियों ने घरों में बने विस्फोटकों को लगाया और जब लोग नमाज पढ़कर लौट रहे थे, उसी दौरान विस्फोट किया।

Also Read : गुजरात चुनाव से पहले बीजेपी को लगा जबरदस्‍त झटका, इस दिग्‍गज नेता ने छोड़ी पार्टी

जिन व्यक्तियों ने बचकर भागने की कोशिश की उन पर आतंकवादियों ने गोलियां भी चलाई। घटनास्थल से ली गई तस्वीरों में मस्जिद के अंदर खून से लथपथ पीड़ितों को देखा जा सकता है। एक रिपोर्ट में कहा गया कि ऐसा प्रतीत हो रहा है कि इस हमले में मस्जिद में प्रार्थना कर रहे सुरक्षा बलों के समर्थकों को लक्षित किया गया है। मिस्र के राष्ट्रपति अब्दुल-फत्तह अल-सिसी ने सुरक्षा समिति की बैठक बुलाई है।

Also Read : लाइव शो में आपस में भिड़ गए संबित पात्रा और कांग्रेस के नेता, देखें वीडियो

मिस्र के स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता खालिद मुजाहिद ने इस घटना को ‘आतंकी हमला’ करार दिया। एक रिपोर्ट में कहा गया है कि ऐसा लगता है कि जिन लोगों को निशाना बनाया गया है वे सुरक्षा बलों के समर्थक हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि इस मस्जिद में सूफी विचार को मानने वाले लोग इस मस्जिद में आते थे। घायलों को अस्पताल ले जाने के लिए करीब 50 एंबुलेंस को मौके पर भेजा गया। अब तक किसी संगठन ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है।

Also Read : ‘कृपया खड़े न हों, अब मैं राष्ट्रपति नहीं रहा’, जानें प्रणब दा ने क्‍यों कहे ये शब्‍द

साल 2013 में मोहम्मद मुर्सी को राष्ट्रपति पद से अपदस्थ किए जाने के बाद उत्तरी सिनाई में हमलावरों ने पुलिस और सेना को निशाना बनाया है। इसके बाद से 700 से अधिक सुरक्षाकर्मी मारे गए हैं। सेना ने इलाके में सैन्य अभियान शुरू कर रखा है, संदिग्धों को गिरफ्तार किया और आतंकवादियों के मकानों को ध्वस्त कर दिया। मिस्र में इस साल कई आतंकी हमले हुए हैं।

loading...