Saturday , September 21 2019

लोकसभा में मोदी को घेरना राहुल का था प्‍लान, सोनिया ने इसलिए बंटवाईं टॉफियां

नई दिल्ली। बजट सत्र में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर मंगलवार को पीएम मोदी ने लोकसभा में धन्यवाद प्रस्ताव दिया। इस दौरान पीएम नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पर भी चुन-चुन कर तीखे हमले किए। वहीं विपक्ष ने भी पीएम के खिलाफ खूब नारेबाजी की।

Also Read : अखिलेश ने तैयार किया ये प्‍लान, 2019 में मोदी के लिए बनेंगे बड़ी मुसीबत

दरअसल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को लोकसभा में बोल रहे थे तो कांग्रेस सांसदों ने अचानक जोर जोर से नारेबाजी शुरू कर दी। टीवी चैनल आजतक की वेबसाइट ने दावा किया है कि पीएम मोदी के खिलाफ इस तरह का ये विरोध एक सोची समझी रणनीति के त‍हत किया गया, और इसका पूरा प्‍लान राहुल गांधी ने बनाया था।

सिर्फ इतना ही नहीं, इसके लिए बकायदा पार्टी के सभी सांसदों को 12 बजे दोपहर तक लोकसभा में पहुंचने के लिए कहा गया था। वेबसाइट के मुताबिक, सदन में इस तरह के विरोध को लेकर कांग्रेस संसदीय दल की प्रमुख सोनिया गांधी कुछ हिचक रही थीं, लेकिन राहुल ने अपने सिपहसालारों को पूरी ताकत के साथ ‘मुद्दों पर आधारित’ नारेबाजी के लिए ग्रीन सिग्नल दिया था।

Also Read : लोकसभा में मोदी गिना रहे थे उपलब्धियां, पीछे से आवाज़ आई- ‘जुमलेबाजी बंद करो’

बताया जा रहा है कि लोकसभा में पार्टी के व्हिप ज्योदिरादित्य सिंधिया ने इस पूरी रणनीति को सदन में अंजाम दिया और राहुल गांधी ने इस पर बारीक नजर रखी। जैसे ही सदन में कांग्रेस सांसदों ने नारेबाजी शुरू की और हाथों में कागज की तख्तियां लहरानी शुरू की, लेफ्ट फ्रंट समेत और विपक्षी दल भी विरोध में उनका साथ देने लगे।

दिलचस्प बात ये है कि कांग्रेस के सांसद जब फुल वॉल्यूम में नारे लगा रहे थे तो सोनिया गांधी की ये फिक्र थी की कहीं उनके गले खराब ना हो जाएं। सूत्रों के मुताबिक सोनिया गांधी ने सांसदों को टाफियां भी भिजवाईं जिससे उनके गले को राहत मिल सके।

Also Read : यशवंत सिन्‍हा ने लिया सबसे बड़ा फैसला, बीजेपी छोड़ने पर किया ये ऐलान

सदन में कांग्रेस सांसद रंजीत रंजन ने सबसे ज्यादा नारे लगाए। रंजीत रंजन ने कहा कि ये साफ हिदायत थी कि हमें मुद्दों को लेकर नारे लगाने हैं और प्रधानमंत्री पर व्यक्तिगत तौर पर कोई निशाना नहीं साधना। हमारी पार्टी मुद्दों पर आधारित राजनीति करती है, प्रधानमंत्री की तरह नहीं जो विपक्षी नेताओं पर व्यक्तिगत आक्षेप करते हैं।

loading...