Sunday , October 20 2019

समीर त्रिपाठी को मिली डॉक्टरेट की मानद उपाधि

लखनऊ। लखनऊ के ‘लाल’ समीर त्रिपाठी को डॉक्टरेट की मानद उपाधि से विभूषित किया गया है। समीर त्रिपाठी को यह मानद उपाधि थाईलैंड की राजधानी बैंकाक में आयोजित वर्ल्ड समिट 2019 एवं डॉक्टरेट मानद उपाधि पुरस्कार के भव्य समारोह में प्रदान की गई।
समीर त्रिपाठी को डॉक्टरेट की यह मानद उपाधि ‘नेशनल वर्चुअल यूनिवर्सिटी फॉर पीस एण्ड एजुकेशन’ द्वारा अतिरिक्त ऊर्जा एवं वितरण के क्षेत्र में उनके महत्वपूर्ण योगदान के लिए दी गयी है।

ज्ञातव्य है कि समीर त्रिपाठी विगत 25 वर्षों से अतिरिक्त ऊर्जा एवं वितरण के क्षेत्र में समर्पित रूप से कार्य कर रहे हैं। समीर त्रिपाठी को यह उपाधि वर्ष 2008 से वर्ष 2018 तक विभिन्न संस्थाओं द्वारा पुरष्कृत किये जाने के आधार पर दी गयी है।

समीर त्रिपाठी ऊर्जा के क्षेत्र में सलाहकार के रूप में कार्य कर रही संस्था मेधज टेक्नो कॉन्सेप्ट प्रा.लि. के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक हैं, जिसका मुख्यालय लखनऊ में है।
यह संस्था वर्ष 2008 से अपने 3500 कुशल इंजीनियर्स के साथ देश के 28 प्रान्तों में ऊर्जा सलाहकार के रूप में अपनी सहभागिता कर रही है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अति महत्त्वाकांक्षी सौभाग्य योजना में देश भर में अन्य कंपनियों के मुकाबले संस्था की भागीदारी सर्वोच्च है।

यह उत्तर प्रदेश की एकमात्र संस्था है जो देश और विदेश में ऊर्जा सलाहकार के रूप में सफलतापूर्वक काम रही है।
समीर त्रिपाठी को डॉक्टरेट की मानद उपाधि से विभूषित किये जाने पर भारत सरकार के ऊर्जा मंत्री आर.के. सिंह ने भी सोशल मीडिया पर ट्वीट कर बधाई दी है।


डॉक्टरेट की मानद उपाधि को सर्वप्रथम अपनी माता श्रीमती रेखा त्रिपाठी को समर्पित करते हुए समीर त्रिपाठी ने कहा कि यह उपाधि मेरी माँ एवं कंपनी में कार्य कर रहे सभी 3500 साथीगण, प्रदेश व देश को समर्पित है।
उन्होंने विश्वास दिलाया कि देश और प्रदेश के विकास के लिए उनका एवं उनकी संस्था का सार्थक प्रयास सदैव जारी रहेगा।

loading...