Monday , April 22 2019

हार से बौखलाया पाकिस्‍तान, अब भारत और पीएम मोदी पर मढ़ दिया एक नया आरोप

इस्‍लामाबाद। इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस में भारत के हाथों की मुंह की खाने के बाद भी पाकिस्‍तान अभी सुधरने का नाम नहीं ले रहा है। हार के बाद बौखलाए पाकिस्‍तान ने अब भारत के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर नया आरोप मढ़ा है।

यह भी पढ़ें :- चारों ओर से फंसे सीएम योगी, सड़क से विधानसभा तक विरोध की लहर

पाकिस्‍तान का कहना है कि भारत परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह द्वारा मिली रियायत के तहत शांतिपूर्ण उद्देश्यों के लिए हासिल परमाणु सामग्री का इस्तेमाल हथियार बनाने के लिये कर रहा है। पाकिस्‍तान ने आरोप लगाया है कि भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने देश में चोरी-चुपके 2600 परमाणु हथियार तैयार कर रहे हैं।

पाकिस्‍तान के विदेश विभाग के प्रवक्ता नफीस जकारिया ने इसको लेकर गुरुवार को कहा कि भारत द्वारा असैनिक परमाणु सहयोग करार और 2008 के परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह (एनएसजी) से मिली रियायत के तहत आयातित परमाणु ईंधन, उपकरण और प्रौद्योगिकी का हथियारों के लिए किए जा रहे इस्तेमाल को दशकों से रेखांकित कर रहा है।

यह भी पढ़ें :- आईसीजे कोर्ट का फैसला आने से पहले ही कुलभूषण जाधव को मार चुका है पाकिस्तान

जकारिया ने कहा कि इसको लेकर चिंतायें न तो नयी हैं और न ही ऐसा है कि पहले इनका पता नहीं था। भारत शांतिपूर्ण इस्तेमाल की प्रतिबद्धता के तहत हासिल परमाणु सामग्री का अपने परमाणु हथियार कार्यक्रम के लिये इस्तेमाल करने का दुर्लभ आनंद उठाता है।

उन्होंने कहा कि भारत द्वारा परमाणु सामग्री के पूर्व में किया गया और भविष्य में संभावित गलत इस्तेमाल न सिर्फ परमाणु प्रसार बल्कि का गंभीर मुद्दा है बल्कि दक्षिण एशिया के स्थायित्व और पाकिस्तान की राष्ट्रीय सुरक्षा पर भी इसका गहरा प्रभाव होगा।

जकारिया ने आगे कहा कि मीडिया रिपोर्ट और दूसरे दस्तावेज इस अनदेखे तथ्य की पुष्टि करते हैं कि भारत का परमाणु हथियार कार्यक्रम दुनिया का सबसे तेजी से बढ़ने वाला कार्यक्रम है। इसको लेकर उन्‍होंने हार्वर्ड केनेडी स्कूल द्वारा हाल में जारी एक पेपर का जिक्र भी किया।

यह भी पढ़ें :- संघ के साथ सीएम योगी से पीएम मोदी भी नाखुश, आगे आकर दिखाया आईना

पेपर का जिक्र करते हुये जकारिया ने कहा कि यह और कुछ अन्य रिपोर्ट भारत द्वारा अपने असुरक्षित परमाणु रियेक्टरों, संयंत्रों और केंद्रो में विदेशों से हासिल परमाणु सामग्री के इस्तेमाल से जुड़ी चिंताओं को जाहिर करती हैं कि उनका इस्तेमाल परमाणु हथियार बनाने के लिये किया जा सकता है।

जकारिया ने आरोप लगाया कि दूसरी सामग्री के अलावा हाल में बेल्फर पेपर से पता चलता है कि भारत ने 2600 परमाणु हथियारों से ज्यादा के लिये परमाणु सामग्री एकत्रित कर ली है।

loading...