Sunday , June 16 2019

यहां कांग्रेस के लिए बड़ी मुसीबत बनीं मायावती, जनता से की सीधी अपील

देवबंद। पश्चिम उत्तर प्रदेश के देवबंद में महागठबंधन की रविवार को हुई संयुक्त रैली के बाद सहारनपुर लोकसभा सीट के राजनीतिक समीकरण पूरी तरह से बदले हुए नजर आ रहे हैं। इस मुस्लिम बहुल सीट पर महागठबंधन की ओर से बहुजन समाज पार्टी के हाजी फजलुर्रहमान, कांग्रेस की ओर से इमरान मसूद और बीजेपी की ओर से राघव लखन पाल मैदान में है।

इसके बाद से ही सहारनपुर सीट पर दो मुस्लिम उम्मीदवार के मैदान में होने के चलते महागठबंधन को मुस्लिम वोटों के बिखराव का भय साफ नजर आया। यही वजह रही कि मायावती ने मुसलमानों से वोट की सीधी अपील करके कांग्रेस के इमरान मसूद की मुश्किलें बढ़ा दी हैं।

गठबंधन के मंच से मायावती ने सहारनपुर के मुसलमानों को बार-बार सचेत करते हुए कहा कि किसी भी सूरत में अपने वोट को बंटने नहीं देना है। कांग्रेस इस लायक नहीं है कि वो बीजेपी को टक्कर दे सके, जबकि महागठबंधन के पास मजबूत आधार है।

अब ऐसे में अपने वोटों का बिखराव नहीं होने देना है और एकजुट होकर गठबंधन के उम्मीदवार के पक्ष में वोट करना है। मायावती ने कहा कि ये बात कांग्रेस को भी पता है, लेकिन वह ये मानकर चल रही है कि कांग्रेस न जीते तो गठबंधन भी न जीते। ऐसे मंसूबों को कामयाब नहीं होने देना है।

बसपा सुप्रीमो ने कहा कि सहारनपुर सीट पर बसपा ने बहुत पहले ही अपने उम्मीदवार के नाम का ऐलान कर दिया था। जबकि कांग्रेस की ओर से किसी भी उम्मीदवार का नाम फाइनल नहीं था। ऐसे में कांग्रेस ने जब देखा कि बसपा उम्मीदवार मुस्लिम है तो उन्होंने भी मुस्लिम प्रत्याशी उतार दिया।

बता दें कि सहारनपुर में कांग्रेस के पास कोई दूसरा वोट नहीं है। जबकि बसपा का अपना बेस वोट है। अब तो सपा के साथ आरएलडी का जाट वोट भी हमारे साथ है। ऐसे में मुस्लिम किसी भी बहकावे में आकर अपने वोट को न बंटने दें, बल्कि बल्कि बसपा उम्मीदवार हाजी फजलुर्रहान के पक्ष में वोट करें।

loading...