Monday , April 22 2019

तो क्‍या एनडीए को फिर मिलेगा पूर्ण बहुमत? शिवपाल ने किया बड़ा ऐलान

लखनऊ। समाजवादी पार्टी से अलग हो चुके यूपी के कद्दावर नेता शिवपाल यादव ने एक बड़ा ऐलान किया है। दरअसल शिवपाल ने बीजेपी से हाथ मिलाने पर संकेत दे दिए हैं। आपको बता दें कि सपा से अलग होने के बाद शिवपाल ने अपनी नई पार्टी बनाई थी, और उनकी पार्टी पहली बार लोकसभा चुनाव में उतर रही है।

एक टीवी चैनल से खास बातचीत में शिवपाल यादव ने कहा कि उनकी प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (पीएसपी) लोकसभा चुनाव में 15 से 20 सीटें जीतेगी और उनके बिना दिल्ली में सरकार नहीं बनेगी। हालांकि, जरूरत पड़ने पर बीजेपी के साथ जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि इस पर फैसला चुनाव नतीजे आने पर लिया जाएगा।

शिवपाल ने कहा कि उन्‍हें तीन महीने पहले मालूम नहीं था कि वह चुनाव कहां से लड़ेंगे। फिरोजाबाद की जनता ने उनके पक्ष में प्रस्ताव भेजे और बुलाया। उन्‍होंने कहा कि अब जनता ने मुझे बुलाया है तो चुनाव लड़ने आ गया। फिरोजाबाद में पिछले पांच साल में कुछ काम नहीं हुआ। सांसद के प्रति जनता में आक्रोश है और जनता ऐसे लोगों से बदला लेगी।

उन्‍होंने आगे कहा कि जीत तो हमारी होनी है। यह लोग जनता के बीच आना पसंद नहीं करते थे। उनकी बात सुनना पसंद नहीं करते थे। यह अहंकार की हार होगी। अहंकार तो हमेशा ले डूबता है। हमें न तो भतीजा देखना है, न भाई देखना है और न परिवार देखना है। अब तो मुझे उत्तर प्रदेश की जनता को देखना है। जनता मेरे साथ है और मैं जनता के साथ हूं।

शिवपाल ने कहा कि मैंने तो सबसे कहा था कि मुझे भी गठबंधन में शामिल कर लो। मेरी कोई बहुत बड़ी डिमांड नहीं थी। मैंने कांग्रेस से कहा था कि बीजेपी के खिलाफ से सभी सेक्युलर लोग एक हो जाओ तो बीजेपी को हटाने में आसानी होती। अगर मुझे भी गठबंधन में शामिल कर लेते तो बीजेपी की हार जरूर होती।

उन्‍होंने कहा कि बीजेपी की मदद हम तो नहीं चाहते थे। हमारी कोई बड़ी डिमांड नहीं थी। मैंने तो सिर्फ कांग्रेस, गठबंधन और अखिलेश यादव से 2 सीटें मांगी थी। मैं सब से मिला। अखिलेश यादव नहीं माने लेकिन अब अखिलेश से खटास मिठास कुछ नहीं है। मैंने बहुत इंतजार किया। इंतजार के बाद कोई नतीजा नहीं निकला। इंतजार के बाद हमें पार्टी बनानी पड़ी और अब हम प्रत्याशी भी लड़ा रहे हैं। हमें उम्मीद है कि हम 15-20 सीटें जीतेंगे, अगर हम इतनी सीटें जीते तो मेरे बिना दिल्ली में कोई सरकार नहीं बनेगी और रही बात बीजेपी के साथ जाने की तो इस पर कोई भी फैसला रिजल्ट आने बाद हमारी पार्टी लेगी।

आपको बता दें कि अभी तक आए सभी ओपिनियन पोल्‍स में बीजेपी और एनडीए को पूर्ण बहुमत मिलता हुआ नजर नहीं आ रहा। लेकिन अगर शिवपाल 15 से 20 सीटें जीतते हैं और बीजेपी को समर्थन देते हैं तो एनडीए वापस दिल्‍ली में सरकार बनाने के लिए सक्षम हो जाएगा।

loading...